दिल्ली प्रदूषण: केंद्रीय पैनल ने दिल्ली में इन वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाई, GRAP 4 लागू किया


दिल्ली सरकार वायु प्रदूषण के ‘गंभीर प्लस’ स्तर को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण पर अंकुश लगाने पर काम कर रही है। वायु में प्रदूषकों के स्तर को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय पैनल ने राष्ट्रीय राजधानी में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) चरण 4 को लागू किया है। इसके साथ ही दिल्ली एनसीआर में ट्रकों जैसे वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। इससे पहले, सरकार ने GRAP चरण 3 को लागू किया था, लेकिन घटते AQI संख्या को नियंत्रित करने के लिए प्रतिबंधों की गंभीरता को और बढ़ा दिया था। दिल्ली एनसीआर में किन वाहनों पर प्रतिबंध है और किन वाहनों को अनुमति दी गई है, इसका विवरण यहां दिया गया है।

दिल्ली एनसीआर में अब वाहनों की अनुमति

जीआरएपी चरण 4 के लागू होने के बाद, राष्ट्रीय राजधानी में डीजल से चलने वाले ट्रकों की आवाजाही पर सख्ती से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा बीएस4 इंजन वाले वाहन। इसके अलावा, मध्यम माल वाहनों (MGV) और भारी माल वाहनों (HGV) पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा।

यह भी पढ़ें: किआ कैरेंस एमपीवी को भारत में 50,000 रुपये तक की भारी कीमत मिली; यहां नई कीमतों की जांच करें

दिल्ली में किन वाहनों की अनुमति है?

दिल्ली सरकार के नए प्रतिबंधों के बाद बीएस6 इंजन वाले डीजल वाहनों को राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश की अनुमति होगी। इसके अलावा, परिवहन की सुविधा के लिए, पेट्रोल से चलने वाली कारों, इलेक्ट्रिक वाहनों और सीएनजी इंजन का उपयोग करने वाली कारों को भी अनुमति दी जाएगी। इसी तरह वाणिज्यिक वाहनों के लिए सीएनजी ट्रकों और इलेक्ट्रिक ट्रकों को दिल्ली जाने की अनुमति दी गई है। इसके अलावा, आवश्यक सामान ले जाने वाले MGV और HGV को दिल्ली-एनसीआर की सीमाओं में प्रवेश करने की अनुमति होगी।



What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *